हिंदी व्याकरण

shabd ke bhed | शब्द के भेद | तत्सम ,तदभव ,देशी/विदेशी और संकर शब्द

दोस्तों आज हम इस post के मद्ध्यम से शब्द के भेद पढेंगे इसकी जानकारी होना बहुत जरुरी है अगर आप स्टेट गवर्मेन्ट नौकरी की तैयारी कर रहे तो ….

शब्द किसे कहते है

ध्वनियों के मेल से बने सार्थक वर्ण समुदाय को ’शब्द’ कहते हैं।

शब्द के भेद चार प्रकार के होते है

  1. उत्पति/व्युत्पति/उद्गम/उदभव/के आधार पर
  2. रचना/सरचना/बनावट/आकृति के आधार पर
  3. विकार/परिवर्तन/रूप/रूपान्तर/के आधार पर
  4. अर्थ के आधार पर

1. उत्पति/व्युत्पति/उद्गम/उदभव/के आधार पर पांच प्रकार के शब्द के भेद होते है

  1. तत्सम शब्द
  2. तदभव शब्द
  3. देशी/देशज/शब्द
  4. विदेशी/विदेशज शब्द
  5. संकर शब्द

तत्सम शब्द की पहचान

  • आधे व्यजन वाले शब्द – अग्नि, रात्रि, गृह, कर्ण, कृपया
  • सयुक्त व्यजन वाले शब्द – क्ष,त्र,ज्ञ,श्र और ध
  • विसर्ग चिन्ह से बने शब्द – प्रातःकाल , अंतःकरण , प्रायः , पुनः
  • अनुस्वार चिन्ह वाले शब्द – अंत ,अंक अंकित , संसार , संरक्षित, संयोग
  • हलंत चिन्ह वाले शब्द – पाठ्य ,विद्य
  • सन्धि वाले समस्त शब्द – रमेश , कपीश ,रविन्द्र , हिमालय
  • समास वाले वे शब्द जिनमे एक शब्द संस्कृत का हो – राजपुत्र , राजधर्म , पित्र
  • संस्कृत के उपसर्ग से बने शब्द – प्रतिवर्ष , आजन्म , दुस्साहस , निष्कलन
  • कठिन उचारण वाले शब्द – शुस्रुसा , उज्ज्वल , अन्त्याक्षरी
  • हिन्दू धर्म , संस्क्रति , संस्कार का बोध करने वाले शब्द – वर्णव्यवस्था – ब्राह्मण ,क्षत्रिय,वेश्य ,शुद्र | आश्रम व्यवस्था – व्रह्म्चार्य ,गृहस्थ , संन्यास | 16 संस्कार – उपनयन , गर्वाधान , दिक्षणा, अन्तेष्ठ | त्यौहार – रक्षावंधन , दीपावली , होलिका
  • वेदशास्त्र , पुराण , महाभारत , रामायण , आदि संस्कृत काव्य /साहित्य / ग्रंथो के शब्द तत्सम होते है
  • जिन शब्दों का प्रयोग आधुनिक समय में बहुत कम हो रहा हो वे शब्द भी तत्सम शब्द कहलाते है
  • संस्कृत के कवि लेखक एवं उनकी रचनाओं में प्रयुक्त हिने वाले शब्द – कालिदास – अभिज्ञान शाकुंतलम

तदभव शब्द की पहचान

  • अर्द्ध चन्द्र बिंदु बाले शब्द – गावँ , आँख , मुँख , चाँद
  • उक्षिप्त व्यंजन वाले शब्द – ड़ , ढ़ , – संड़क , लड़का , डंडा , मेढ़क , पढ़ना
  • द्धित्व व्यजन का प्रयोग – बच्चा , डिब्बा , छप्पन , बच्चन , पप्पू
  • समास वाले वे शब्द जिनमे दो शब्द hindi के हो – राजपूत , राजकाज , राजसेवक
  • hindi के उपसर्ग से बने शब्द – अंजान , अनहोनी , अन्नास , अनवन , निडर , निकम्मा
  • hindi के प्रत्यय से बने शब्द – मिठास , बचपन , बुढापा , भलाई
  • hindi की क्रिया से बने शब्द – लिखाई , पियक्कड़
  • सरल ,सुगम , आसान , वर्तनी वाले शब्द – आग , सूरज, रात
  • hindi के कवि लेखक ,गीतकार , एवं उनकी रचनाओं में प्रयुक्त होने वाले अधिकांस शब्द आदि

देशी शब्दों की पहचान

  • बोली व् उपबोली के शब्द – हरियाणा – जाट व् वागरू , यमनोत्री – यमुना , जमुना
  • गाव देहात में प्रचलित शब्द
  • क्षेत्रीयता वाले शब्द
  • जिन शब्दों की उत्पत्ति के वारे में कोई जानकारी नहीं मिलती
  • जो तत्सम व् तदभव नहीं हो

विदेशी / विदेशज शब्दों की पहचान

  • जिन शब्दों की वर्तनी व् उच्चारण अंग्रेजी तथा hindi में सामान हो – स्कूटर , स्कूल , स्टार
  • आधे सा से आरम्भ होने वाले शब्द – स्कूटनी
  • अर्द्ध चन्द्र वाले शब्द – हॉस्पिटल , ऑफिस
  • अंग्रेजी के उपसर्ग से बने शब्द – सब , हैड , चीफ , जनरल
  • जिन शब्दों में तत्सम , तदभव एवं देशी शब्दों के नियम का पालन न हो

उर्दू के शब्द

  • मुस्लिम धर्म व् संस्कृति के वोधक शब्द
  • मुस्लिम राज्यव्यवस्था, शासन व्यवस्था के परिचालक शब्द
  • उर्दू के उपसर्ग से बने शब्द – अल, हम , ला , सर, वे
  • दाए से वाए ओर लिखी जाने वाली लिपि में प्रयुक्त शब्द
  • अरवी फारसी में प्रचिलित शब्द – कमीना , कम्वस्त , कमसीन, नजर

संकर शब्द – दो अलग -अलग भाषाओ के शब्द

  • रेलगाड़ी – अंग्रेजी + हिंदी
  • रेलयान – अंग्रेजी + संस्क्रत
  • रेलसवारी – अंग्रेजी + हिन्दी
  • जांचकर्ता – हिंदी + संस्कृत
  • अजावघर – उर्दू + hindi

2. रचना | सरचना | बनावट | आक्रति के आधार पर शब्द के भेद तीन प्रकार के होते हैं

  1. रूढ़ शब्द
  2. यौगिक शब्द
  3. योगरूढ़ शब्द

1.रूढ़ शब्द

  • परम्परा से आने वाले शब्द जैसे – सेना , कक्षा , भीढ़, कुत्ता, विल्ली , वस्त्र , घर , पानी , गाडी
  • जो किसी वस्तु प्राणी के रूढ़ बन गए हो
  • रूढ़ शब्द के टुकड़े करने पर कोई अर्थ नहीं निकलता है
  • वे शब्द जो पहले किसी अन्य अर्थ में प्रयोग हो रहे थे परन्तु आज किसी दुसरे अर्थं के लिए प्रयुक्त हो रहे है जैसे – वर शब्द इसे पहले – श्रेष्ठ कहा जाता था और आज वर को दुल्हा कहा जाता है

2.यौगिक शब्द

  • एक शब्दांश + एक शब्द – निराभिमान = निर+अभि+मान , स्वागत = सु+आगत
  • उसर्ग +शब्द हो उसे भी यौगिक शब्द कहते है
  • शब्द +प्रत्यय हो – सुनारिन = सुनार+इन
  • शब्द + शब्दांश – लिखावट ,मिठास
  • सन्धि वाले समस्त शब्द – हिमालय , देवेश , रमेश , राकेश
  • समस्त संकर शब्द – रेलगाड़ी , टिकटघर , जांचकर्ता , डाकघर
  • समास वाले शब्द बहुब्रीहि समास को छोड़कर

3.योगरूढ़ शब्द

  • बहुब्रीहि समास के समस्त उद्धारण जैसे – नीलकंठ , चंद्रशेखर , त्रिनेत्र , गजानन , गजोदर , वीणापणी , चतुर्भुज , चतुर्मुख

3. विकार| परिवर्तन| रूप | रूपान्तर | के आधार पर शब्द के भेद दो प्रकार के होते है

  1. विकारी शब्द
  2. अविकारी शब्द

विकारी शब्द चार प्रकार के होते है –

  1. संज्ञा
  2. सर्वनाम
  3. विशेषण
  4. क्रिया

अविकारी शब्द ये चार प्रकार के होते है

  1. क्रिया विशेषण अव्यय
  2. सम्बन्ध बोधक अव्यय
  3. समुच्चय बोधक अव्यय
  4. विस्मय बोधक अव्यय

4. अर्थ के आधार पर

अर्थ के आधार पर शब्द चार प्रकार के होते है

  1. एकार्थी शब्द : जिन शब्दों का केवल एक ही अर्थ होता है , एकार्थी शब्द कहलाते है | क्यक्तिवाचक संज्ञा के शब्द इसी कोटि के होते है , जैसे – गंगा , पटना , जर्मन , राधा आदि |
  2. अनेकार्थी शब्द : जिन शब्दों के अर्थ एक से अधिक होते है , अनेकार्थी शब्द कहलाते है, जैसे –
शब्द अनेक शब्द
हार गले की माला , पराजय
कनक सोना , धतूरा
कर हाथ , टेक्स
अर्थ प्रयोजन , धन
अनेकार्थी शब्द

3. समानार्थी | पर्यावाची शब्द : हिंदी भाषा में अनेक शब्द ऐसे है जो समान अर्थ देते है , उन्हें समानार्थी या पर्यावाची शब्द कहते है जैसे –

शब्द पर्यावाची शब्द
आकाश नभ , गगन , आसमान ,
सूर्य रवि , भानु , भास्कर
बादल मेघ , जलद , वारिद
फुल पुष्प , सुमन , प्रसून
समानार्थी शब्द

4. विपरीतार्थी | विलोम शब्द : जो शब्द विपरीत अर्थ का बोध कराते है , विपरीतार्थी या विलोम शब्द कहलाते है जैसे –

शब्द विलोम शब्द
जय पराजय
सच झूठ
पाप पूण्य
दिन रात
विलोम शब्द

इसे भी अवश्य पढ़े – karak in hindi | कारक की परिभाषा ,उद्धाहरण सहित

अधिक जानकारी के लिए – https://www.primaryedudose.com/2020/02/%E0%A4%B6%E0%A4%AC%E0%A5%8D%E0%A4%A6-%E0%A4%94%E0%A4%B0-%E0%A4%B6%E0%A4%AC%E0%A5%8D%E0%A4%A6-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%AD%E0%A5%87%E0%A4%A6-shabd-ke-bhed-hindi-grammar.html

abhishekyadav

मेरा नाम अभिषेक यादव, में uppcs की तैयारी करता हूँ हम इस ब्लॉग पर uppcs के सारे विषय पर post डालता हूँ

Recent Posts

संज्ञा (sangya) | संज्ञा की परिभाषा | संज्ञा के भेद और उदाहरण | noun in hindi

संज्ञा की परिभाषा ( sangya ki paribhasha ) किसी वस्तु ,व्यक्ति, स्थान, प्राणी, भाव, अवस्था के नाम को संज्ञा कहते…

2 weeks ago

bharat ki nadiya map in hindi | भारत की नदियाँ | river in hindi

दोस्तों आज हम लेकर आये है आपके लिए bharat ki nadiya map in hindi एक -एक करके सारी मुख्य नदियों…

3 weeks ago

भारत की झीलें | भारत के जलप्रपात | lakes and water falls of india

दोस्तों आज हम लेकर आये है भारत की झीलें एवं जलप्रपात ( lakes and water falls of india ) बहुत…

3 weeks ago

मध्यकालीन भारत का इतिहास प्रश्नोत्तरी pdf | मध्यकालीन इतिहास प्रश्नोत्तरी upsssc pet

मध्यकालीन भारत का इतिहास प्रश्नोत्तरी.... 1. मुहम्मद गोरी किस वर्ष पृथ्वीराज तृतीय से पराजित हुआ था? (a) 1471 (c) 1391…

1 month ago

हर्षवर्धन का शासन काल | हर्षवर्धन का उदय | गुप्तोत्तर काल | harshvardhan ka shaasan kaal

हर्षवर्धन का शासन काल ... बिहार बाद हार और उत्तर प्रदेश स्थित केंद्र से, गुप्त ने उत्तर एवं पश्चिम भारत…

1 month ago

गुप्त साम्राज्य | गुप्त काल का इतिहास |

दोस्तों आज हम लेकर आये है गुप्त साम्राज्य का इतिहास pet के लिए भी है ये ....... साम्राज्य के पतन…

1 month ago