Categories: upsssc pet

प्राचीन इतिहास प्रश्नोत्तरी | prachin itihas in hindi

प्राचीन इतिहास प्रश्नोत्तरी….

1. हड़प्पाकाल का इनमें से कौन सा नगर, तीन भागों में विभाजित था?

(a) Lothal/लोथल
(b) Mohenjodaro/मोहेंजो दाड़ो
(c) Kalibanga/कालीबंगा
(d) Dholavira/धोलावीरा
                            
                                कम्प्यूटर ऑपरेटर (10.01.2020)
Ans. (d) : हड़प्पाकाल का पुरास्थल धौलवीरा गुजरात के ‘कच्छ के रण’ के मध्य स्थित द्वीप ‘खडीर’ में स्थित है। धौलावीरा तीन भागों में विभाजित था। नगर के महाप्रसाद वाले भाग के उत्तर में एक विस्तृत सम्पूर्ण एवं व्यापक समतल मैदान के अवशेष मिले हैं। इसके उत्तर में नगर का मध्यम भाग है जिसे ‘पुर’ की संज्ञा दी गयी थी। इसके पूर्व में नगर का तीसरा महत्वपूर्ण भाग स्थित है जिसे ‘निचला शहर’ या ‘अवम नगर’ कहा जाता है।

2. ‘मोहनजोदड़ो’ शब्द का अर्थ क्या है?

(a) पसंदीदा शहर
(c) रहने की जगह
(b) माउंड ऑफ द डेड
(d) एक बाजार क्षेत्र

          ग्राम विकास अधिकारी – 23-12-2018 (shift-I)

Ans : (b) सिंधु घाटी सभ्यता एक नगरीय सभ्यता थी। इसमें मोहनजोदड़ो सिन्धु घाटी सभ्यता का एक प्रमुख नगर था। मोहन जोदड़ों शब्द से अभिप्राय ‘मृतकों का टीला’ (Mound of the dead) होता है। सिंधु घाटी सभ्यता में प्राप्त वृहत स्नानागार | मोहनजोदड़ों नगर से ही प्राप्त हुआ था जिसके मध्य स्थित स्नानकुंड | लगभग 7.01 मी. चौड़ा 11.88 मी. लम्बा तथा 2.43 मी. गहरा है। सिन्धु घाटी सभ्यता की लिपि भावचित्रात्मक है। यह लिपि दायें से बायें ओर को लिखी जाती थी।

3. सिंधु घाटी सभ्यता के बारे में इनमें से कौन सा कथन सत्य है?
(a) सिंधु लोग कपास का उत्पादन करने वाले पहले थे।
(b) उन्होंने लकड़ी के बक्से में अनाज भण्डारित किया।
(c) सिंधु घाटी सभ्यता पंजाब, सिंध, बलुचिस्तान, गुजरात, राजस्थान और पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों को कवर करती है।
(d) सिंधु लोग कुत्तों, बिल्लियों और घोड़ों को बड़े पैमाने पर पालते थे।
           ग्राम विकास अधिकारी – 23-12-2018 (Shift-I)
Ans : (a) कपास भारत की आदि फसल है जिसकी खेती बहुत ही बड़ी मात्रा में की जाती है। यहाँ आर्यावर्त में ऋग्वैदिक काल से ही इसकी खेती की जाती रही है। सिंधु घाटी सभ्यता के हड़प्पा निवासी | कपास के उत्पादन में संसार भर में प्रथम माने जाते थे। सिंधु घाटी सभ्यता के लोगों के उत्पादनों में से कपास सबसे प्रमुख था। सिंधु में घाटी सभ्यता एक प्राचीन भारतीय नगरीय सभ्यता थी। सिंधु घाटी सभ्यता के लोगों ने नगरों तथा घरों के विन्यास के लिए ‘ग्रिड’ पद्धति अपनाई थी।

4.हड़प्पा सभ्यता के एक हिस्से, लोशन की खुदाई की खोज किसने की थी ?

(a) दया राम साहनी
(c) एसआर राव
(b) राखलदास बनर्जी
(d) आरएस बिष्ट

          ग्राम विकास अधिकारी – 22-12-2018 (shift- II)
Ans : (c) लोथल की खोज सन् 1957 में हुई, जिसकी खुदाई के बीच भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण 1955 से 1960 के बीच भारतीयb(Archaeological survey of India) द्वारा की गई थी। गुजरात में स्थित लोथल की खुदाई वर्ष 1957 में एस.आर. राव द्वारा की गई थी। यह स्थान हड़प्पा सभ्यता का एक हिस्सा है।

5. सिंधु सभ्यता में घोड़े की अस्थियों का अवशेष कहाँ मिला?

(a) बनवाली
(c) सुत्कागेनडोर
(b) चन्हूदड़ो
(d) सुरकोटदा)

                                    लोअर द्वितीय- 06-03-2016
Ans : (d) सुरकोटडा या सुरकोटदा गुजरात के कच्छ जिले में स्थित है। जहाँ से घोड़े की अस्थियाँ तथा एक कब्रगाह के अवशेष प्राप्त हुए हैं। लोथल से घोड़ों की लघु मृणमूर्तियों के अवशेष प्राप्त हुए है।

6. निम्नलिखित में से कौन सा सिन्धु घाटी की सभ्यता से

सम्बन्धित स्थल नहीं है?

(a) कालिबंगन
(c) पाटलिपुत्र
(b) रोपड़
(d) लोथल

               जूनियर इंजीनियर / तकनीक – 27-12-2015

Ans. (c) लोथल से प्राप्त वस्तुएँ युगल समाधि, पत्तन, घोड़े का अवशेष, धान की भूसी रोपड़ से प्राप्त वस्तुएं ताँबे की – कुल्हाड़ी, मानव कंकाल के साथ कुत्ता। कालीबंगा – जुते हुए खेत, अग्निकुंड आदि सिन्धु प्रदेश से प्राप्त हुई हैं तथा पाटलिपुत्र में | तृतीय बौद्ध सभा आयोजित की गई थी। जिसके अध्यक्ष मोगलिपुत्त तिस्स थे जो कि शासक अशोक से सम्बन्धित थे।

7. ‘उपनयन समारोह’ से क्या तात्पर्य है?

(a) बच्चे को एक औपचारिक नाम दिया जाता है।
(b) बच्चे को सूर्य और चन्द्र के औपचारिक दर्शन कराए जाते हैं।
(c) बच्चे को पवित्र जनेऊ धारण कराया जाता है।
(d) बच्चे का विवाह किया जाता है।

                        गन्ना पर्यवेक्षक 03-07-2016 (Paper-I)
Ans : (c) उपनयन संस्कार को यज्ञोपवीत संस्कार के नाम से भी जानते है, इसमें बच्चे को पवित्र जनेऊ धारण कराया जाता है। ‘प्राचीन समय से आज के समय में इस संस्कार का स्वरूप बिल्कुल बदल चुका है पहले इस संस्कार को शुद्धिकरण संस्कार के रूप में जानते थे जिसके उपरान्त शिष्य गुरू के साथ आश्रम में रहकर शिक्षा ग्रहण करते थे। इस संस्कार के उपरान्त बालकों को ‘द्विज’ कहा जाता था। पहले यह अनिवार्य नहीं था। परन्तु कर्मकाण्डों में इसे अनिवार्य कर दिया गया तथा सामान्यतः विवाहपूर्व किया जाने लगा।

प्राचीन इतिहास प्रश्नोत्तरी

8. ‘सत्यमेव जयते’ महावाक्य कहाँ से उद्धृत है?

(a) शतपथ ब्राह्मण से
(b) ईशोपनिषद से
(c) मुंडक उपनिषद से
(d) महाभारत से
                     गन्ना पर्यवेक्षक 03-07-2016 (Paper-I)
Ans. (c) ‘सत्यमेव जयते’ मुण्डकोपनिषद् से लिया गया है इसी उपनिषद में यज्ञ की तुलना टूटी नाव से की गई है। मुण्डकोपनिषद, अथर्ववेद से संबंधित है। यह भारत का आदर्श वाक्य है। सत्यमेव जयते, भारतीय राज्य के उत्तर प्रदेश के वाराणसी स्थित सारनाथ में 250 ई. पूर्व मौर्य सम्राट द्वारा बनाये गये सिंह स्तम्भ के शिखर पर अंकित है।

9. वेदों के गद्य प्रकरण क्या कहलाते हैं।

(a) संहिता
(c) आरण्यक
(b) ब्राह्मण
(d) उपनिषद

                                     कनिष्ठ सहायक 31-05-2015
Ans : (b) वेद का पद्य भाग- ऋग्वेद, अथर्ववेद
वेद का गद्य भाग – यजुर्वेद
वेद का गायन भाग -सामवेद
संहिता (मंत्र भाग)
ब्राह्मण (वेद ग्रंथ का गद्य में कर्मकाण्ड की विवेचना)
आरण्यक (कर्मकाण्ड के पीछे उद्देश्य की विवेचना) उपनिषद (परमेश्वर, परमात्मा ब्रह्म और आत्मा के स्वभाव और संबंध का बहुत ही दार्शनिक और ज्ञानपूर्वक वर्णन)

10. निम्नलिखित में से कौन-सा ‘ज्ञान’ के सिद्धांत पर बल देता है?

(a) योग दर्शन
(c) सांख्य दर्शन
(b) वेदान्त दर्शन
(d) उपनिषद्
                                      स्टेनोग्राफर 26-07-2015
Ans : (d) उपनिषद हिन्दू धर्म का महत्वपूर्ण श्रुति ग्रंथ है। ये वैदिक वांग्मय के अभिन्न भाग है। इसमें परमेश्वर, परमात्मा ब्रह्म और आत्मा के स्वभाव और संबंध का बहुत ही दार्शनिक और ज्ञानपूर्ण वर्णन किया गया है। दुनिया के कई दार्शनिक उपनिषद् को सबसे अच्छा ज्ञानकोश मानते हैं। ये संस्कृत से जुड़े हैं 17वीं सदी में दाराशिकोह ने उपनिषदों का फारसी अनुवाद सिर्रे अकबर नाम से किया।

11.ऋग्वेद में निम्नलिखित में से किस देवता की सर्वाधिक महत्ता का वर्णन है?

(a) वरुण
(b) अग्रि
(c) इंद्र
(d) शिव

                                        स्टेनोग्राफर 26-07-2015
Ans : (b) ऋग्वेद प्राचीनतम वेद है, जिसमें 1028 सूक्त 10,462 ऋचायें है। ऋग्वेद के पढ़ने वाले ऋषियों को होतृ कहते है। इसमें सर्वाधिक वर्णन इन्द्र का है, इन्द्र के लिए 250 तथा अग्नि के लिए 200 ऋचाओं की रचना की गयी है।

12. प्राचीनतम वेद कौन-सा है?

(a) ऋग्वेद
(C) यजुर्वेद
(b) अथर्ववेद
(d) सामवेद

                                    कनिष्ठ सहायक 31-05-2015
Ans : (a) उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।

13. निम्नलिखित में से किस भारतीय पुरातन ग्रंथ में अपराध और अपराधी का जिक्र आता है?

(a) अर्थशास्त्र
(b) मनुस्मृति
(c) न्याय-मीसांसा
(d) उपर्युक्त सभी

                                          स्टेनोग्राफर 26-07-2015
Ans : (d) अर्थशास्त्र, मनुस्मृति, न्यायमीमांसा, उपर्युक्त सभी ग्रंथों में अपराध और अपराधी का जिक्र आता है। ..के ब्राह्मण

14. सतपथ ब्राह्मण और तैत्रिय ब्राह्मण मूलपाठ हैं –

(a) सामवेद
(c) ऋग्वेद
(b) अथर्ववेद
(d) यजुर्वेद

                 राजस्व लेखपाल- 13-09-2015 (Morning)
Ans : (d) वेद और उनके ब्राह्मण निम्नलिखित है
ऋग्वेद – ऐतरेय ब्राह्मण, शांखायन या कौषीतकिय ब्राह्मण
शुक्ल यजुर्वेद – शतपथ ब्राह्मण कृष्ण यजुर्वेद तैत्तिरीय ब्राह्मण
सामवेद – पंचविश, षडविश, जैमिनीय ब्राह्मण अथर्ववेद गोपथ ब्राह्मण

15. ऋग्वेद में निहित गायत्री मन्त्र किस देवता को समर्पित है?

(a) अग्नि
(c) इंद्र
(b) मारूत
(d) सावित्री

                                        UDA/LDA 29-11-2015
Ans : (d) ऋग्वेद के तीसरे मंडल में निहित गायत्री मंत्र सविता (सवित्री) देवता को समर्पित है। इस मंडल की रचना विश्वामित्र ने की थी। ऋग्वेद में कुल 10 मंडल है।

16. सर्वाधिक प्राचीन पुराण कौन सा है?

(a) मत्स्य पुराण
(b) नारद पुराण
(c) विष्णु पुराण
(d)वामन पुराण

                                          वन रक्षक-11-12-2015
Ans : (a) भारतीय ऐतिहासिक कथाओं का सबसे अच्छा क्रमबद्ध विवरण पुराणों में मिलता हैं इनकी संख्या 18 है। जिनमें से पाँच मत्स्य, वायु, विष्णु, ब्राह्मण, भागवत पुराण हैं।
पुराणों में मत्स्य पुराण सबसे प्राचीन एवं प्रमाणिक है।

17. निम्न में से कौन-सा उपवेद नहीं है ?

(a) धनुर्वेद
(b) आयुर्वेद
(c) शस्त्रशास्त्र
(d) योगवेद

                                     लोअर तृतीय- 26-06-2016
Ans: (d) धनुर्वेद, शस्त्रशास्त्र, आयुर्वेद उपवेद हैं जबकि य Ans उपवेद नहीं है। धनुर्वेद यजुर्वेद का उपवेद, आयुर्वेद ऋग्वेद का उपवेद है।

18.वैदिक देवता इन्द्र किसके देवता हैं?

(a) हवा के
(b) वर्षा व चक्रवात के
(c) तूफान के
(d) अग्नि के

                  जूनियर इंजीनियर / तकनीकी- 31-07-2016
Ans : (b) ऋग्वैदिक लोग प्राकृतिक शक्तियों का मानवीकरण कर उसकी पूजा करते थे। देवों की पूजा की प्रधान विधि थी-स्तुति पाठ करना एवं यज्ञ में बलि चढ़ाना। प्रारम्भ में आर्यों के प्रमुख देवता वरुण थे लेकिन ऋग्वेद के रचनाकाल तक इन्द्र सर्वप्रमुख देवता हो गये। इन्द्र युद्ध का नेता, दुर्गों को तोड़ने वाला (पुरन्दर) तथा वर्षा व चक्रवात के देवता माने जाते हैं। ऋग्वेद में इन्द्र के लिए 250 ऋचाओं की रचना की गई है।

3. महाजनपद काल (Mahajanapada Period)

19. राजा बिंबिसार के दरबार में उस प्रसिद्ध चिकित्सक का क्या नाम है जो भगवान बुद्ध के निजी चिकित्सक थे?

(a) अजातशत्रु
(c) जीवक
(b) सारिपुत्त
(d) राहुला

                  Lower Exam – 01-10-2019 (Shift-II
Ans. (c) बिम्बिसार हर्यक वंश का संस्थापक था। वह बौद्ध धर्म का अनुयायी था। इसके दरबार में प्रसिद्ध चिकित्सक जीवक रहते थे, जिन्हें भगवान बुद्ध का निजी चिकित्सक के रूप उनकी सेवा के लिए भेजा गया था।

जैन एवं बौद्ध धर्म

(Jainism and Buddhism Religion)

20.  गौतम बुद्ध ने_______ में धम्मचक्कप्पवत्तनसुत्त
(धर्मचक्रप्रवर्तन सूत्र) का उपदेश दिया।

(a) कपिलवस्तु
(b) बोध गया
(c) लुम्बिनी
(d) सारनाथ

                                  कनिष्ठ सहायक – 31-05-2019
Ans : (d) महात्मा गौतम बुद्ध के प्रथम उपदेश को धर्मचक्रप्रवर्तन कहा जाता है गौतमबुद्ध ने अपना प्रथम उपदेश सारनाथ (उ. प्र. वाराणसी) में दिया था। सारनाथ को अन्य नाम ऋषिपत्तनम से भी जाना जाता है। गौतम बुद्ध ने अपना सर्वाधिक उपेदश कोशल देश की राजधानी श्रावस्ती में दिया था।

21. उस स्थान का नाम बताएँ जहाँ बौद्धों की मान्यता के अनुसार गौतम प्राप्त किया। बुद्ध ने अपनी मृत्यु के बाद परिनिर्वाण

(a) कौशाम्बी

(c) बदायूँ

(b) कुशीनगर

(d) चित्रकूट

               राज्य मण्डी परिषद् – 30-05-2019 (Shift-I)
Ans : (b) बौद्ध धर्म के प्रवर्तक महात्मा बुद्ध की मृत्यु 80 वर्ष की अवस्था में 483 ई. पू. में कुशीनारा (कुशीनगर) में चुन्द द्वारा अर्पित भोजन करने के बाद हो गयी, जिसे बौद्ध धर्म में महापरिनिर्वाण कहा जाता है।

22.पाली में बौद्ध ग्रंथों को आमतौर पर त्रिपिटक, यानी ‘थ्रीफोल्ड बास्केट’ कहा जाता है। इनमें से कौन सा त्रिपिटकों में से नहीं है?

(a) अभिधम्मा पिटक
(c) उपसाका पिटक
(b) सुत्त पिटक
(d) विनय पिटक

             ग्राम विकास अधिकारी 23-12-2018 (shift-II)
Ans : (c) बुद्ध ने कोई पुस्तक नहीं लिखी थी, इनके उपदेश मौखिक ही होते थे। बुद्ध की मृत्यु के बाद उनके शिष्यों ने बुद्ध के उपदेशों को संग्रह त्रिपिटक में किया है। इसकी रचना पाली भाषा में की गई है। त्रिपिटक में सुत्तपिटक (धर्म संबंधी बातों की चर्चा), अभिधम्म पिटक (दार्शनिक विचारों का संकलन) और विनयपिटक (नीति संबंधी बातें) का उल्लेख हैं।

23. भगवान बुद्ध की 200 फीट ऊँची कांस्य प्रतिमा स्थापित करने का निर्णय लिया गया है

(a) कुशीनगर में
(c) श्रावस्ती में
(b) सारनाथ में
(d) बामियान में

                                            स्टेनोग्राफर 26-07-2015
Ans : (a) कुशीनगर, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विश्व में सबसे ऊँची (200 feet) की भगवान बुद्ध की कांस्य प्रतिमा उनके परिनिर्वाण स्थल कुशीनगर में स्थापित करने का निर्णय लिया है।

24. बुद्ध को महा परिनिर्वाण कहाँ प्राप्त हुआ था?

(a) बोध गया
(b) कुश
(c) राजगृह
(d) वैशाली

                            असिस्टेन्ट एकाउन्टेन्ट 22-11-2015
Ans : (b) गौतम बुद्ध बौद्ध धर्म के प्रवर्तक थे। इनके जीवन में घटित घटनाओं से सम्बन्धित स्थल निम्नवत हैं। –

घटना                          स्थल

जन्म.                           लुम्बिनी (नेपाल)

गृह त्याग (महाभिनिष्क्रमण)       राजगृह

ज्ञान प्राप्ति.                     बोधगया (बिहार)

मृत्यु (महा परिनिर्वाण).        कुशीनगर

25. किस स्मारक से, गौतम बुद्ध ने दुनिया के लिए बौद्ध धर्म के अपने दिव्य ज्ञान का प्रचार किया था?

(a) हुमायूँ का मकबरा
(c) कुतुब मीनार
(b) महाबोधि मंदिर समूह
(d) लाल किला परिसर
                                        लोअर द्वितीय 15-07-2018
Ans. (b) : महाबोधि मंदिर, बिहार के ‘गया’ जिले में स्थित है। इसका निर्माण तीसरी शताब्दी में सम्राट अशोक ने करवाया था। वर्तमान मंदिर पांचवी या छठवीं शताब्दी में बनवायी गयी है। यहीं पर गौतम बुद्ध को वैशाख पूर्णिमा के दिन वट वृक्ष के नीचे निरंजना नदी के तट पर ज्ञान की प्राप्ति हुई और वे बुद्ध कहलाये। बुद्ध बनने के पश्चात् सर्वप्रथम तपसु और भल्लिक नामक दो बंजारों को बोधगया में ही बौद्ध धर्म में दीक्षित किया और बौद्ध धर्म का प्रचार किया। महाबोधि मंदिर समूह को वर्ष 2002 में यूनेस्को द्वारा विश्व विरासत सूची में शामिल किया गया।

26. ‘त्रिपिटक’ निम्नलिखित में से किससे सम्बन्धित है?

(a) जैनियों से
(c) सिक्खों से
(b) बौद्धों से
(d) हिन्दुओं से
                     जूनियर इंजीनियर/तकनीकि 27-12-2015
Ans. (b): उपर्युक्त प्रश्न की व्याख्या देखें।

27. ज्ञान प्राप्त करने के बाद, गौतम को किस रूप में जाना जाने लगा :

(a) जिन
(b) बुद्ध
(c) ज्ञान
(d) बोधि
           ग्राम विकास अधिकारी- 22-12-2018 (shift- II)
Ans : (b) गौतम बुद्ध का जन्म लुम्बिनी में 563 ईसा पूर्व में हुआ था। गौतम बुद्ध ने बिहार के बोधगया में महाबोधि वृक्ष के नीचे कई वर्षों तक कठिन तपस्या तथा कठोर साधना कर ज्ञान की प्राप्ति की थी। ज्ञान प्राप्त करने के बाद सिद्धार्थ को गौतम से बुद्ध के रूप में जाना जाने लगा।

28. बोध गया एक महत्त्वपूर्ण बौद्ध तीर्थ केंद्र क्यों है?

(a) क्योंकि गौतम बुद्ध यहाँ पैदा हुए थे
(b) क्योंकि गौतम बुद्ध ने यहाँ ज्ञान प्राप्त किया था
(c) क्योंकि गौतम बुद्ध ने ज्ञान प्राप्त करने के बाद यहाँ अपना पहला उपदेश दिया था
(d) क्योंकि गौतम बुद्ध ने यहाँ निर्वाण प्राप्त किया था
         
            ग्राम विकास अधिकारी – 22-12-2018 (shift-I)
Ans : (b) बौद्ध धर्म के संस्थापक गौतम बुद्ध थे। गौतम बुद्ध का जन्म 563 ई. पू. में कपिलवस्तु के लुम्बिनी नामक स्थान पर हुआ था। 35 वर्ष की आयु में बैसाख पूर्णिमा की रात, निरंजना (फल्गु) नदी के किनारे गौतम बुद्ध को पीपल वृक्ष के नीचे ज्ञान की प्राप्ति हुई तथा यह स्थान बोधगया कहलाया। गौतम बुद्ध ने अपना की मृत्यु सर्वप्रथम उपदेश सारनाथ (ऋषिपतनम्) में दिया था। जिसे बौद्ध ग्रन्थों में धर्मचक्रप्रवर्तन कहा गया है। बुद्ध ने अपने उपदेश जनसाधारण की भाषा ‘पालि’ में दिए। महात्मा गौतम 80 वर्ष की अवस्था में 483 ई0 पूर्व कुशीनगर में हो गई जिसे बौद्ध धर्म में महापरिनिर्वाण कहा गया है।

29. बुद्ध ने अपना पहला उपदेश कहाँ दिया था?

(a) कुशीनगर
(b) सारनाथ
(c) अयोध्या
(d) वाराणसी
                विधान भवन रक्षक – 02-12-2018 (shift-II)
Ans. (b) : बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति बोधगया में हुई तथा उन्होंने पहला धर्मोपदेश सारनाथ में दिया जिसे बौद्ध ग्रन्थों में धर्मचक्र प्रवर्तन कहा गया।

30. बौद्धों के लिए उत्तर प्रदेश में स्थित सारनाथ क्यों महत्त्वपूर्ण है ?

(a) भगवान बुद्ध ने सारनाथ में ज्ञान प्राप्त किया था ।
(b) भगवान बुद्ध का जन्म सारनाथ में हुआ था ।
(c) भगवान बुद्ध का सारनाथ में महापरिनिर्वाण (देहांत) हुआ था।
(d) ज्ञान प्राप्त करने के बाद, भगवान बुद्ध ने सारनाथ में
अपना पहला उपदेश दिया था।
                 विधान भवन रक्षक – 02-12-2018 (shift-I)
Ans. (d) : गौतम बुद्ध ने ज्ञान प्राप्ति के बाद उत्तर प्रदेश के सारनाथ (ऋषि पत्तनम्) में पाँच सन्यासी ब्राह्मणों को अपना प्रथम उपदेश दिया, जिसे बौद्ध ग्रन्थों में ‘धर्मचक्रप्रवर्तन’ के नाम से जाना जाता है। अतः यह स्थल बौद्धों के लिए महत्वपूर्ण है ध्यातव्य है कि बुद्ध ने अपने जीवनकाल में सर्वाधिक उपदेश कोशल देश की। राजधानी श्रावस्ती में दिये।

31. मनुष्य जीवन का सर्वोत्तम ध्येय है केवल्य’, जिसका अर्थ है

(a) दूसरों को शिक्षा देना
(b) दूसरों का अनुसरण करना
(c) इच्छाओं पर विजय प्राप्त करना
(d) दूसरों की सेवा करना
                चकबन्दी लेखपाल 08-11-2015 (Morning)
Ans : (c) कैवल्य का अर्थ ‘इच्छाओं पर विजय प्राप्त करना’ होता है। कैवल्य अर्थात् ब्रह्म विद्या का वह ज्ञान जो शंशय रहित और स्थायी हो या विवेक उत्पन्न होने पर औपाधिक दुःख सुखादि अहंकार, प्रारब्ध, कर्म और संस्कार के लोप हो जाने से आत्मा के चितस्वरूप होकर आवागमन से मुक्त हो जाने की स्थिति को कैवल्य कहते हैं।

32. 24वें जैन तीर्थंकर या अन्तिम तीर्थंकर थे

(a) पार्श्वनाथ
(b) ऋषम
(C) महावीर
(d) अरिष्टनेमि
                                       UDA/LDA 29-11-2015
Ans : (c) महावीर स्वामी जैन धर्म के अंतिम तीर्थंकर थे। यह 24वें तीर्थंकर थे। महावीर स्वामी से पहले 23 तीर्थंकर जैन धर्म में हुये। जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर ऋषभदेव थे। महावीर स्वामी ज्ञान प्राप्ति के बाद महावीर कहलाये इसका अर्थ होता है कि अपनी साधना में अतुल्य प्रराक्रम दिखाना। 23वें तीर्थंकर पार्श्वनाथ ने चार महाव्रत- सत्य, अहिंसा, अस्तेय तथा अपरिग्रह का प्रतिपादन किया था। महावीर स्वामी ने ब्रह्मचर्य . नामक पाँचवाँ महाव्रत इसमें जोड़ दिया।

33.पहले जैन तीर्थोकर कौन थे?

(a)महावीर
(b)ऋषभ
(c) पारस नाथ
(d) पद्ममब्रभ
                    राजस्व निरीक्षक 17-07-2016 (Paper-I)
Ans : (b) ऋषभदेव जैन धर्म के प्रथम तीर्थकर थे। जैन धर्म में *कुल 24 तीर्थंकर हुए, जिनमें पहले ऋषभदेव, दूसरे अजितनाथ, बाइसवें अरिष्टनेमि तेइसवें पार्श्वनाथ एवं चौबीसवें महावीर थे। ऋषभदेव एवं अरिष्टनेमि का उल्लेख ऋग्वेद में तथा अजितनाथ का उल्लेख यजुर्वेद में मिलता है। इस धर्म के महात्माओं की उपाधि ‘तीर्थंकर’ है।

34.जैन धर्म में, तीन रत्न (त्रिरत्न) दिए जाते हैं और उन्हें निर्वाण का मार्ग कहा जाता है। वे क्या हैं?

(a) सही भाषण, सही ज्ञान और सही आचरण ।
(b) सही विश्वास, सही ज्ञान और सही व्यवहार।
(c) सही विश्वास, सही पथ और सही आचरण ।
(d) सही विश्वास, सही ज्ञान और सही आचरण ।
           ग्राम विकास अधिकारी- 23-12-2018 (shift – I) Ans : (d) जैन धर्म के संस्थापक एवं प्रथम तीर्थंकर ऋषभदेव थे। | महावीर स्वामी जैन धर्म के 24वें और अंतिम तीर्थंकर हुए। महावीर | स्वामी का जन्म 540 ई. पूर्व में कुण्डग्राम (वैशाली) में हुआ था। | महावीर स्वामी ने अपने उपदेश प्राकृत (अर्धमागधी) भाषा में दिए ।
जैन धर्म के त्रिरत्न हैं-
(i) सम्यक् दर्शन (सही विश्वास)
(ii) सम्यक् ज्ञान (सही ज्ञान)
(iii) सम्यक् आचरण (सही आचरण)
जैन धर्म के ईश्वर की मान्यता नहीं है इसमें आत्मा की मान्यता है। महावीर स्वामी जी पुनर्जन्म एवं कर्मवाद में विश्वास करते थे।

35 अशोक का सिंहचतुर्मुख स्तंभ शीर्ष ——स्तंभ पर था।

(a) कन्नौज
(b) गौतम बुद्ध नगर
(c) संभल में
(d) सारनाथ
            राज्य मण्डी परिषद – 30-05-2019 (Shift II )
Ans : (d) अशोक का सिंहचतुर्मुख स्तंभ शीर्ष सारनाथ से लिया गया है। इस स्तंभ में चार सिंह पीठ से पीठ सटाये खड़े है। इसे ही भारत सरकार ने राष्ट्रीय चिन्ह के रूप में स्वीकार किया है।

36. चन्द्रगुप्त मौर्य के इस प्रसिद्ध राजनीतिक सलाहकार को निम्नलिखित सभी नामों से जाना जाता था, इसके अलावा :

(a) चाणक्य
(b) विष्णुगुप्त
(c) कौटिल्य
(d) समुद्रगुप्त
             ग्राम विकास अधिकारी 23-12-2018 (shift-II)
Ans : (d) कौटिल्य को भारतीय राजनीतिक विचारों का जनक माना जाता है। इनके अन्य नाम विष्णुगुप्त और चाणक्य है। इन्होंने विश्व प्रसिद्ध पुस्तक ‘अर्थशास्त्र’ की रचना की है। मौर्य वंश की स्थापना में चाणक्य का महत्त्वपूर्ण योगदान है जबकि समुद्रगुप्त गुप्त साम्राज्य का महान सम्राट था। इसे भारत का नेपोनियन भी कहा जाता है।

37. अशोक के प्रधान शिलालेखों में सबसे बड़ा शिलालेख है

(a) 11वां
(b) 12वां
(c) 13वां
(d) 14वां
                                    लोअर द्वितीय- 06-03-2016
Ans : (c) अशोक के प्रधान शिलालेखों में 13वाँ शिलालेख सबसे बड़ा है जिसमें अशोक के शासन के 8वें वर्ष होने वाले कलिंग युद्ध का वर्णन मिलता है।

38. अशोक के आक्रमण के दौरान कलिंग (पूर्वी प्रांत) की राजधानी कौन-सी थी?

(a) तक्षशिला
(b) पाटलीपुत्र
(c) उज्जैन
(d) तोशलि
                 राजस्व लेखपाल 13-09-2015 (Evening)
Ans : (d) अशोक के आक्रमण के दौरान कलिंग (पूर्वी प्रांत) की राजधानी तोशलि थी। अशोक ने अपने राज्याभिषेक के 8 वर्ष बाद अर्थात् 9वें वर्ष 261 ई. पू. में कलिंग की विजय की। इसका उल्लेख उसके 13वें शिलालेख में मिलता है। इसी युद्ध के बाद अशोक ने धम्म विजय की नीति अपनाई।

39. ‘देवनामप्रिय’ नाम किसे दिया गया था?

(a) हर्ष
(b) अशोक
(c) कनिष्क
(d) चंद्रगुप्त मौर्य
                                      UDA/LDA 29-11-2015
Ans : (b) अशोक को उसके अभिलेखों में “देवानामप्रिय’ संबोधित किया गया, भानू अभिलेख में अशोक को “प्रियदर्शी” जबकि मास्की में “बुद्धशाक्य” कहा गया है, अशोक के नाम का उल्लेख चार अभिलेखों में मिलता है ये अभिलेख है – मास्की, गुर्जेरा, नेत्तूर और उडेगोलम है। जूनागढ़ के अभिलेख (रुद्रदामन) भी अशोक का नाम है।

40. निम्नलिखित किनके बीच तक्षशिला शहर स्थित था?
(a) सिंधु और झेलम
(b) झेलम और चेनाब
(c) चेनाब और रावी
(d)रावी और ब्यास
                                       UDA/LDA 29-11-2015
Ans: (a) तक्षशिला शहर सिंधु तथा झेलम नदी पर स्थित है, तक्षशिला पाकिस्तान के रावलपिंडी जिले में स्थित है, तक्षशिला प्राचीन काल में गांधार राज्य की राजधानी थी। रामायण के अनुसार भरत ने अपने पुत्र तक्ष के नाम पर तक्षशिला रखा। तक्षशिला प्राचीन काल से शिक्षा के लिये विश्व विख्यात रहा यहाँ पर तक्षशिला विश्वविद्यालय स्थित था।

41.सम्राट अशोक का कौन-सा शिलालेख कलिंग पर उनके विजय का उल्लेख करता है?

(a) प्रथम
(b) चतुर्थ
(C) दसवें
(d) तेरहवें
           ग्राम विकास अधिकारी – 22-12-2018 (shift-II)
Ans : (d) सम्राट अशोक द्वारा कुल 14 अभिलेख प्राप्त हुए हैं। जिसमें से तेरहवाँ अभिलेख सबसे बड़ा माना जाता है। तेरहवें अभिलेख में सम्राट अशोक द्वारा कलिंग पर उनके विजय का उल्लेख करता है तथा अशोक की धम्म की जीत ग्रीक राजाओं एंटियोकस ऑफ सीरिया (एंटियोक), मिस्र के टॉलेमी (तुरमय) सिकन्दर के ऐपिरस (अलिकासुद्रो) पर हुई।

42. अशोक के कौन-से शिलालेख में ब्राह्मी लिपि का प्रयोग नहीं किया गया था

(a) सारनाथ
(b) शहबाजगढ़ी
(c) धौली
(d) इनमें से कोई नहीं
                     राजस्व निरीक्षक 17-07-2016 (Paper-I)
Ans : (b) शहबाजगढ़ी एक गांव व ऐतिहासिक स्थल है जो पाकिस्तान के मर्दान जिले में स्थित है। यह स्थल ‘तीसरी शताब्दी में सम्राट अशोक द्वारा स्थापित शिलालेख के लिए प्रसिद्ध है। इस शिलालेख में खरोष्ठी लिपि का प्रयोग किया गया है। 30 जनवरी 2004 में यूनेस्को द्वारा इस ऐतिहासिक स्थल को विश्व विरासत सूची में शामिल किया गया।

43. निम्नलिखित में से मौर्य कला का सर्वोत्तम प्रतिमान
कौन-सा है?

(a) स्तम्भ
(b) स्तूप
(C) चैत्य
(d) बारादरी
                                  कनिष्ठ सहायक 24-04-2016
Ans : (a) मौर्य काल की सर्वोत्तम / प्रतिमान ‘स्तम्भ’ है। मौर्य कला का विकास भारत मौर्य साम्राज्य के युग में (चौथी से दूसरी सदी ईसा पूर्व) हुआ। सारनाथ और कुशीनगर जैसे धार्मिक स्थानों के रूप में स्वयं सम्राट अशोक ने इनकी संरचना की है।

44, निम्नलिखित में से कौन-सा अशोक के साम्राज्याधीन
नहीं था?

(a) कश्मीर
(b) गुर्जर
(c) कर्नाटक
(d) कामरूप
                                     कनिष्ठ सहायक 24-04-2016
Ans : (d) कर्नाटक के ‘मॉस्की अभिलेख’ तथा गुर्जर के ‘गुर्जर अभिलेख’ से यह ज्ञात होता है कि अशोक का साम्राज्य कर्नाटक तथा गुर्जर तक विस्तृत था। अशोक का कश्मीर पर भी अधिकार था उसने यहाँ अनेक अभिलेख भी बन

45. वृहद साँची स्तूप किस काल से संबंधित है?

(a) कुषाण काल
(b) गुप्त काल
(c) हर्षवर्धन काल
(d) मौर्य काल
                 चकबन्दी लेखपाल 08-11-2015 (Evening)
Ans : (d) वृहद सांची स्तूप का निर्माण सम्राट अशोक ने करवाया. था। इसका निर्माण 300 B.C. में हुआ। सांची मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में स्थित है। यह अर्द्धवृत्त/कटोरे की आकृति का बना है।

46. ‘योग-दर्शन’ के प्रवर्तक कौन थे?

(a) महर्षि जैमिनी
(b) स्वामी रामदेव
(c) महर्षि पतंजलि
(d) महर्षि अरविन्द
                     गन्ना पर्यवेक्षक 03-07-2016 (Paper-I)
Ans : (c) योग दर्शन के प्रवर्तक महर्षि पतंजलि थे। इनका जन्म गोनारद्य (गोनिया) में हुआ था। माना जाता है कि वे व्याकरणाचार्य पाणिनी के शिष्य थे। भारतीय दर्शन साहित्य में महर्षि पतंजलि के लिखे हुए
तीन ग्रन्थ मिलते हैं
1. बोगसूत्र 2. महाभाष्य 3. आयुर्वेद पर ग्रन्थ

47. दी गई जानकारी से राजवंश की पहचान करें पुष्यमित्र ने इस वंश की स्थापना की। उनके प्रभुत्व दक्षिण में नर्मदा नदी तक फैले थे और पाटलीपुत्र, अयोध्या और विदिशा के शहर शामिल थे। उन्होंने दो अश्वमेघ बलिदान किए। उन्होंने बैक्ट्रियन राजा,डेमेट्रियस को भी हराया।
राजवंश का पांचवां राजा भागभद्र था।
पतंजलि के गौरव ग्रंथ ‘महाभाष्य’ इस समय के दौरान लिखे गए थे।

(a) कण्व राजवंश
(b) दास राजवंश
(c) चोल राजवंश
(d) शुंग राजवंश
        ग्राम विकास अधिकारी- 23-12-2018 (shift- II)
Ans : (d) मौर्य वंश के अंतिम राजा बृहद्रथ को उसके सेनापति पुष्यमित्र ने हत्या कर शुंग वंश की स्थापना की। ‘मालविकाग्निमित्र’, ‘दिव्यावदान’ व तारानाथ के अनुसार इसका राज्य नर्मदा नदी तक फैला हुआ था। पाटलिपुत्र, अयोध्या और विदिशा उसके राज्य के प्रमुख नगर थे।

48. प्राचीन भारत के महान व्याकरणविद् पतंजलि किसके समकालीन थे?

(a) चंद्रगुप्त मौर्य
(b) अशोक
(c) पुष्यमित्र शुंग
(d) वसुमित्र
                                      लोअर प्रथम- 28-02-2016
Ans : (c) प्राचीन भारत के महान व्याकरणविद् पतंजलि शुंग वंश के संस्थापक पुष्यमित्र शुंग के गुरु थे। पतंजलि न महाभाष्य पुस्तक की रचना की थी।

49.कनिष्क प्रथम के शासनकाल के दौरान कौन सा प्रसिद्ध आयुर्वेद विद्वान रहता था ?

(a) पराशर
(b) सुश्रुत
(c) चरक
(d) धन्वन्तरि
           ग्राम विकास अधिकारी 22-12-2018 (shift- II)
Ans : (c) चरक एक महर्षि एवं आयुर्वेद विद्वान के रूप में विख्यात थे। वे कुषाण राज्य के राजवैद्य थे। इनके द्वारा रचित चरक संहिता एक प्रसिद्ध आयुर्वेद ग्रन्थ है। ये कुषाण साम्राज्य के संस्थापक कनिष्क प्रथम के दरबार में रहते थे।

50.कुषाण मूलतः कहाँ के निवासी थे?

(a) मध्य एशिया
(b) चीनी तुर्किस्तान
(c) तिब्बत
(d) ईरान
                                        स्टेनोग्राफर-03-04-2016
Ans : (a) कुषाण मूलत: मध्य एशिया के निवासी थे। वहाँ से निकाले जाने पर ये लोग काबुल-कंधार में आकर बस गये तथा की सभ्यता से प्रभावित हुए। यह भारत आने वाली युची जाति कि पाँच शाखाओं में से एक थी।

51.खगोलविद वराह मिहिर और कवि कालिदास किसके
दरबार का हिस्सा थे?

(a) विक्रमादित्य
(b) बिम्बिसार
(c) बिन्दुसार
(d) पृथ्वीराज चौहान
                  व्यायाम प्रशिक्षक 16-09-2018 (Shift-II)
Ans : (a) खगोलविद् वराह मिहिर और कवि कालिदास चन्द्रगुप्त द्वितीय (375-415ई0) के शासनकाल में प्रमुख कवि थे। समुद्रगुप्त का उत्तराधिकारी चन्द्रगुप्त द्वितीय था। चन्द्रगुप्त द्वितीय का अन्य नाम देवगुप्त, देवराज, देवश्री तथा उपाधियाँ विक्रमांक, विक्रमादित्य, परमभागवत थी। चन्द्रगुप्त के दरबार में नौ विद्वानों की मण्डली निवास करती थी यथा- कालिदास, धनवन्तरि, क्षपणक, अमरसिंह, शंकु, वेताल भट्ट, घटकर्पड़, वाराहमिहिर, वररुचि। हर्षवर्धन ने ‘5 इंडीज’ को अपने नियंत्रण में लिया।

52.इनमें से कौन सा 5 इंडीज’ था?
(a) पंजाब, कन्नौज, बंगाल, बिहार और जयपुर
(b) पंजाब, कन्नौज, बंगाल, बिहार और उड़ीसा
(c) पंजाब, कन्नौज, बंगाल, उत्तर प्रदेश और उड़ीसा
(d) राजस्थान, कन्नौज, बंगाल, बिहार और उड़ीसा
           ग्राम विकास अधिकारी – 23-12-2018 (shift-II)
Ans : (b) हर्षवर्धन पुष्यभूति वंश का महान राजा था। इसने 606 से 643 ई. तक शासन किया। इसका नियंत्रण ‘5 इंडीज’ पंजाब,कनौज, बंगाल, बिहार और उड़ीसा तक था। हर्षवर्धन ने कन्नौज को राजधानी बनाया। यह एक अच्छा नाटककार और कवि भी था। इसने नागानंद, रत्नावली और प्रियदर्शिका नामक नाटक की रचना की है।

53.विक्रम संवत् प्रारम्भ हुआ

(a) 57 ई.पू.
(b) 78 ई.पू.
(c) 57 ई.
(d) 78 ई.
                 जूनियर इंजीनियर / तकनीकी- 31-07-2016
Ans : (a) विक्रम संवत् अत्यन्त प्राचीन संवत् है। विक्रम संवत के प्रणेता सम्राट विक्रमादित्य को माना जाता है। जिन्होंने लगभग 2,068 वर्ष पूर्व यानी 57 ईसा पूर्व विक्रम संवत् का प्रारम्भ किया था।

54. वह स्थल जहाँ हर्षवर्धन ने बौद्ध महासम्मेलन का आयोजन किया था?

(a) काशी
(b) प्रयाग
(c) अयोध्या
(d) सारनाथ
                 जूनियर इंजीनियर / तकनीकि 27-12-2015
Ans. (b): प्रयाग, वह स्थल है, जहां हर्षवर्धन ने बौद्ध महा सम्मेलन का आयोजन किया था ?

55. कन्नौज से पूर्व हर्षवर्धन कहाँ का शासक था ?

(a) कौशाम्बी
(b) कुशीनगर
(c) श्रावस्ती
(d) थानेश्वर
                     अमीन परीक्षा- 14-08-2016 (Paper-I)
Ans : (d) हर्ष वर्धन अंतिम हिन्दू सम्राट था जिसने समस्त उत्तरी भारत पर राज्य किया। हर्षवर्धन 606 ई. में थानेश्वर के सिंहासन पर बैठा तथा बाद में कन्नौज को अपनी राजधानी बनाया।

56. गुप्त काल की प्रसिद्ध महिला शासक कौन थी?

(a) कुबेरगंगा
(b) प्रभावती गुप्ता
(c) राज्यश्री
(d) कुमार देवी
                                    UDA/LDA 29-11-2015
Ans : (b) गुप्तकाल की प्रसिद्ध महिला शासिका प्रभावती गुप्ता थी। प्रभावती, गुप्त वंश के शासक चन्द्रगुप्त द्वितीय की पुत्री थी इनका विवाह वाकाटक वंश (महाराष्ट्र) के शासक रूद्रसेन द्वितीय से हुआ था। इसका प्रमाण प्रभावती गुप्ता के पूना ताम्रपत्र से हो जाता है, उन्होंने अपने पति रूद्रसेन द्वितीय की मृत्योपरान्त स्वयं अपने पुत्रों की सरंक्षिका बनकर शासन को संभाला

57. 12वीं शताब्दी के आरंभ में दिल्ली पर किसका शासन था ?

(a) तोमर वंश
(b) खिलजी वंश
(c) सैय्यद वंश
(d) तुगलक वंश
                   विधान भवन रक्षक 02-12-2018 (shift-I)
Ans. (a) : 12वीं शताब्दी के आरंभ में दिल्ली पर तोमर वंश का शासन था। अनंगपाल दिल्ली के तोमर वंश के संस्थापक थे। प्रतिहारों और चौहानों की भांति तोमर भी विदेशी थे।

58.जयचंद के विश्वासघात के कारण पृथ्वीराज चौहान की पराजय हुई। कालांतर में जयचंद कहाँ और मारा गया?

(a) तराईन, 1192 (b) चंदावर, 1193
(c) कन्नौज, 1194 (d) उपर्युक्त में से कोई नहीं
                       अमीन परीक्षा- 14-08-2016 (Paper-I)
Ans : (b) वर्ष 1194 में कन्नौज पर मोहम्मद गोरी ने चढ़ाई की। फलस्वरूप गोरी तथा जयचन्द्र के बीच इटावा के पास चन्दावर के | युद्ध हुआ और जय चन्द मारा गया।

59. निम्न में से कौन से वंश ने भारत के दक्षिण भाग पर शासन नहीं किया है?
(a) चेर
(b) पांड्या
(c) राजपूत
(d) चोला
                                      स्टेनोग्राफर 10-03-2019
Ans : (c) राजपूत वंश ने भारत के दक्षिण भाग पर शासन नहीं किया। 7वीं-12वीं शताब्दी तक का काल ‘राजपूत काल’ कहलाता है। इस काल के महत्वपूर्ण राजपूत वंशों में राष्ट्रकूट वंश, चालुक्य वंश, चौहान वंश, चंदेल वंश परमार वंश एवं गहडवाल वंश आदि आते हैं। राजपूत वंश ने भारत के उत्तर भाग पर शासन किया। जैसे, राजस्थान, दिल्ली, पंजाब, मध्यप्रदेश इत्यादि ।

60. पाल साम्राज्य भारत के किस हिस्से से संबंधित है

(a) पश्चिमी
(b) पूर्वी
(c) दक्षिणी
(d) उत्तरी
                विधान भवन रक्षक – 02-12-2018 (shift-I)
Ans. (b) : पाल साम्राज्य का विस्तार भारत के ‘पूर्वी’ हिस्से में था। |पाल साम्राज्य मध्यकालीन भारत का एक महत्त्वपूर्ण राजवंश था जो कि 750-1174 ईस्वी तक चला। इस साम्राज्य की स्थापना गोपाल ने की थी। इस वंश की राजधानी मुंगेर थी। पाल वंश का सबसे महान शासक धर्मपाल था जिसने विक्रमशिला विश्वविद्यालय की स्थापना की।

61. पाल वंश का पहला शासक कौन था?

(a) देवपाल (c) गोपाल
(b) रामपाल (d) महीपाल
                                  कृषि प्राविधिक 15-02-2019
Ans : (c) पाल वंश का संस्थापक गोपाल था। वह एक योग्य और कुशल शासक था। गोपाल ने 750 से 770 ई. तक शासन किया। उसने ओदंतपुरी अर्थात वर्तमान बिहार शरीफ में एक मठ और विश्वविद्यालय का निर्माण करवाया।

62. सिंचाई के लिए सोलह मील लम्बी ‘चोल झील’ का निर्माण इनमें से किस चोल शासक ने करवाया था?

(a) अधिराज
(b) राजेन्द्र प्रथम
(c) राजराज प्रथम
(d) इनमें से कोई नहीं
                चकबन्दी लेखपाल 08-11-2015 (Morning)
Ans : (b) सिंचाई के लिए सोलह मील लम्बी ‘चोल झील का निर्माण राजेन्द्र प्रथम ने किया था अन्य उपलब्धियाँ लंका के अभियान को पूर्ण कर राजा महेन्द्र को बन्दी बनाया तथा पाड्य व केरल राज्यों में प्रतिनिधि मण्डल भेजा और गंगईकोण्ड पण्डित की उपाधि धारण की।

63. कौन सा साहित्य संगम साहित्य के रूप में प्रसिद्ध है?

(a) तमिल साहित्य
(b) वैदिक साहित्य
(c) उर्दू साहित्य
(d) संस्कृत साहित्य
                                        लोअर प्रथम- 28-02-2016
Ans : (a) तमिल भाषा में लिखे गये प्राचीन साहित्य को संगम साहित्य कहा जाता है। सर्वप्रथम इन परिषदों का आयोजन पाण्ड्य राजाओं के राजकीय संरक्षण में किया गया था। संगम का महत्वपूर्ण कार्य होता था, उन कवियों तथा लेखकों की रचनाओं का अवलोकन करना जो अपनी रचनाओं को प्रकाशित करना चाहते थे।

64. चोल अभिलेखों के अनुसार जैन सभाओं को दान में दिए जाने वाले भूमि को क्या कहा जाता था?

(a) वेल्लान्वगाई M
(b) शालाभोगा
(c) पल्लीच्छान्दम
(d) ब्रह्मदेय
                ग्राम विकास अधिकारी 22-12-2018 (shift I
Ans : (c) चोल अभिलेखों के अनुसार चोलकाल में भूमि जो दान में दी जाती थी उसका विवरण निम्नवत् थे। (1)वेल्लान्वगाई- गैर ब्राह्मण किसान स्वामी की भूमि।
(2) ब्रह्मदेय- ब्राह्मणों को उपहार में दी गई भूमि।
(3) शालाभोगा-किसी विद्यालय के रखरखाव के लिए भूमि।
(4) पल्लीच्छान्दम- जैन संस्थानों को दान की गई भूमि।
(5) देवदान/तिरुनमटक्कानी-किसी मंदिर को उपहार में दी गई भूमि। चोल प्रशासन में भाग लेने वाले उच्च पदाधिकारियों को पेरुन्दरम् एवं निम्न श्रेणी के पदाधिकारियों को शेरुन्दन कहा जाता था।

प्राचीन इतिहास प्रश्नोत्तरी….

65. ‘अभिज्ञान शाकुंतलम’ किताब के लेखक कौन हैं?

(a) तुलसीदास (c) कालिदास
(b) सूरदास (d) रायदास
            ग्राम विकास अधिकारी – 23-12-2018 (shift-I)
Ans : (c)

66. ‘कादम्बरी’ के लेखक कौन हैं?

(a) कालिदास
(b) कौटिल्य
(c) हर्ष
(d) बाण
                जूनियर इंजीनियर / तकनीकी- 31-07-2016
Ans : (d) कादम्बरी संस्कृत साहित्य का महान उपन्यास है। इसके रचनाकार बाणभट्ट हैं। इन्होंने ‘हर्षचरित’ की भी रचना की थी।

67. विशाखदत्त द्वारा लिखित ‘मुद्राराक्षस’ कौन सी भाषा में लिखा गया?

(a) तमिल      (c) संस्कृत
(b) पालि       (d) हिन्दी
                     राजस्व निरीक्षक 17-07-2016 (Paper-I)

Ans : (c) मुद्राराक्षस चौथी शताब्दी में रचित संस्कृत का ऐतिहासिक नाटक है। इसके रचयिता विशाखदत्त हैं। इसमें चाणक्य और | चन्द्रगुप्त की राजनीतिक सफलताओं का विश्लेषण है। इस ऐतिहासिक नाटक की हिन्दी में रूपान्तरित करने का श्रेय भारतेन्दु हरिश्चन्द्र को प्राप्त है।

68. मेगस्थनीज, जिन्होंने भारत के बारे में प्रसिद्ध ग्रंथ इंडिका लिखी है, वह मूल रूप से किस देश के थे?
(a) पुर्तगाल (c) मिस्र (b) ग्रीस (d) तुर्की
                   Lower Exam – 30-09-2019 (Shift-II)
Ans. (b) : मेगस्थनीज चंद्रगुप्त मौर्य के दरबार में आया था। उसने जो कुछ भार में देखा, उसका वर्णन उसने “इंडिका” नामक पस्तक में किया है। मेगस्थनीज यूनान (ग्रीस) का निवासी था।

प्राचीन इतिहास प्रश्नोत्तरी…

69. खजुराहो समूह के प्रसिद्ध स्मारक किस राज्य में है

(a) उत्तर प्रदेश
(b)मध्य प्रदेश
(c) राजस्थान
(d) महाराष्ट्र
                                      लोअर द्वितीय 15-07-2018
Ans. (b) : खजुराहो समूह के प्रसिद्ध स्मारक मध्य प्रदेश राज्य के छतरपुर जिले में स्थित है। खजुराहो के मंदिरों का निर्माण 900 ई. से 1130 ई. के मध्य चन्देल राजाओं द्वारा करवाया गया था। यहाँ के मंदिरों में कंदरिया महादेव का मंदिर सर्वोत्तम है।

70. मंदिर एलोरा, महाराष्ट्र में स्थित एक प्राचीन हिंदू मंदिर है जो चट्टानों को काटकर बनाए गए सबसे बड़े मंदिरों में से एक है।

(a) पातालेश्वर
(b) भैरव
(c) दूधनाथ
(d) कैलाश
                राज्य मण्डी परिषद् – 30-05-2019 (Shift-I)
Ans : (d) कैलाश या कैलाशनाथ मंदिर दुनिया में सबसे बड़ा एकाश्मक मंदिर है, जो एलोरा की गुफाओं (महाराष्ट्र) में स्थित है। | इसका निर्माण 8वीं शताब्दी में राष्ट्रकूट राजा कृष्ण प्रथम ने करवाया था।

71. मथुरा कला स्कूल कब अपने शिखर पर पहुँचा?

(a) वैदिक काल में
(b) मौर्यकाल में
(c) मुगल काल में
(d) कुषाण काल में
                                       UDA/LDA 29-11-2015
Ans : (d) मथुरा कला स्कूल कुषाण काल में अपने सर्वोच्च
शिखर पर पहुँचा। इसमें लाल बलुए पत्थर का प्रयोग हुआ है इस आर्दशवादी कला में सत्य को सौन्दर्य की प्रधानता दी गई। इसमें मूर्तियों को भारी भरकम कपड़े से ढक दिया जाता है। इस कला में आध्यात्मिकता देवताओं की मूर्तियों में दिखती है और भौतिकता भी दिखती है। मथुरा कला में सभी धर्मों के देवी देवताओं की मूर्तियाँ बनी है। जैसे कृष्ण, विष्णु, बुद्ध, दुर्गा, शिव, गणेश आदि।

72. भारत में नव-पाषाण काल गुफा चित्रकारी कहाँ मिलती है?

(a) अजन्ता की गुफाएं
(b) उदयगिरि
(c) मेहरगढ़
(d) भीमबेटका
                                       UDA/LDA 29-11-2015
Ans : (d) भारत में नव पाषाण गुफा चित्रकारी मध्य प्रदेश की भीमबेटका से मिली है। मानव शरीर ढकने के लिये पशु-चर्म पत्तों | एवं छालो का प्रयोग करता था, परन्तु इस काल में उसने वस्त्र | निर्माण सीख लिया भीमबेटका में प्रयुक्त रंग इस तथ्य की पुष्टि करते है कि उसने वस्त्रों को रंगने की शुरूआत की।

73.प्रागैतिहासिक काल की चित्रकारी वाली प्रसिद्ध पंचमुखी गुफाएँ निम्नलिखित में से किस जिले में स्थित हैं?

(a) मिर्जापुर
(b) वाराणसी
(c) सोनभद्र
(d) चंदौली
               विधान भवन रक्षक – 02-12-2018 (shift-I)
Ans. (c) : प्रागैतिहासिक काल की चित्रकारी वाली प्रसिद्ध पंचमुखी गुफाएँ उत्तर प्रदेश के जिला सोनभद्र में स्थित है। वे विंध्याचल और कैमूर श्रेणियों के गुफा आश्रयों में स्थित है और लगभग 250 रॉक कला पेंटिंग है। लक्ष्मण, पंचमुखी काउवा खोह और लखमा के गुफा आश्रयों में पेंटिंग उल्लेखनीय है।

अवश्य पढे hadappa sabhayta vdo re-exam एक नजर में

vedic kaal ka itihas वैदिक काल का इतिहास vdo re-exam

abhishekyadav

मेरा नाम अभिषेक यादव, में uppcs की तैयारी करता हूँ हम इस ब्लॉग पर uppcs के सारे विषय पर post डालता हूँ

Recent Posts

magadh samrajya | magadh samrajya ka uday | upsssc pet

magadh samrajya :- राजधानी - गिरिव्रज (राजगृह)शासक -बिम्बिसार (मगध का वास्तविक संस्थापक व् हर्यक वंश का प्रथम शासक , बुद्ध…

1 week ago

karak in hindi | कारक की परिभाषा ,उद्धाहरण सहित

कारक की परिभाषा :- karak in hindi.. वाक्य में जिससे संज्ञा ,सर्वनाम ,शब्दों का क्रिया के साथ सम्बन्ध बताया जाता…

2 weeks ago

whale vomit price | व्हेल की उलटी की कितनी कीमत है

whale vomit price.... * इसके एक किलो की कीमत 35 हजार पाउंड यानी 36 लाख रुपये से भी ज्यादा होती…

2 weeks ago

समास की सम्पूर्ण जानकारी | परिभाषा उदाहरण सहित और pdf

समास का शाब्दिक अर्थ :- समास की सम्पूर्ण जानकारी... संक्षेप ,सामानिक पद ,समस्त पद , सम्पूर्ण पद समास की परिभाषा…

2 weeks ago

Today current affairs in hindi | pdf download 2021

Today current affairs in hindi.. question and answer [FAQ] 1.हाल ही में शिक्षा मंत्रालय द्वारा मध्याह्न भोजन योजना के तहत…

3 weeks ago

जैन धर्म का इतिहास क्या है | jainism in hindi

महावीर का जन्म :- Add title जैन धर्म का इतिहास.... श्वेताम्बर की मान्यता के अनुसार -महावीर का जन्म देवनंगा नामक…

3 weeks ago