लार्ड रिपन के सुधार लार्ड रिपन का द्रष्टिकोण

http://uppscexams.com/wp-content/uploads/2021/05/wp-1620875426557-scaled.jpg

लार्ड रिपन लार्ड रिपन के सुधार ……. लार्ड रिपन का कार्यकाल :-  (1880-84) बुक:- duty of the age द्रष्टिकोण :- सुधारवादी प्रष्टभूमि :- लिवरेल पार्टी के नेता लार्ड रिपन के प्रशासनिक सुधार :- प्रशासन में लिटन के सुधार को वापस लिया वर्नाकुलर प्रेस एक्ट का वापस लिया अकाल सहित वनाया गया वह वित्तीय -विकेंद्रीकरण की …

Read moreलार्ड रिपन के सुधार लार्ड रिपन का द्रष्टिकोण

1857 का विद्रोह के समय गवर्नर | जनरल 1857 का विद्रोह

लार्ड कौनिन :- 1857 का विद्रोह इसके समय विधवा पुनर्विवाह अधिनियम आया था 1858 में महारानी विक्टोरिया की घोषणा हुई इस घोषणा में ईस्ट इंडिया कम्पनीय की सत्ता ख़त्म हो जाती है शासन british क्राउन के हाथ में चला जाता है british goverment ईस्ट इंडिया कम्पनीय की सभी संधियों का सम्मान करेगी जो संधीया पहले …

Read more1857 का विद्रोह के समय गवर्नर | जनरल 1857 का विद्रोह

चार्टर एक्ट 1853 एक नजर में

चार्टर एक्ट 1853-1793 से 1853 के दौरान british संसद के दुआरा पारित किये गये चार्टर अधिनियमों की श्रंखला में यह अंतिम अधिनियम था संवेधानिक विकास की द्रष्टि से यह अधिनियम एक महत्वपूर्ण अधिनियम था चार्टर एक्ट 1853.. इस अधिनियम की विशेषता :- पहली बार गवर्नर जनरल की परिषद् में विधायी एव प्रशासनिक कार्यो को अलग …

Read moreचार्टर एक्ट 1853 एक नजर में

अफगान नीति

अफगान नीति ऑकलेन लोरेन्स लितिन three goverenor ऑकलेन (1839-42) :- अफगान नीति – British अपनी मनमर्जी के व्यक्ति को शाहशुजा को गददी पर बैठाने में सफल रहें। शाहशुजा को गददी पर वैठाया कैसे था :- अफगान नीति – शाहशुजा वहाँ का भूतपूर्व शासक था अंग्रेजों ने अफगानिस्तान की राजधानी पर हमला कर दिया और अपनी …

Read moreअफगान नीति

इसलिंगटन आयोग

http://uppscexams.com/wp-content/uploads/2021/05/wp-1620642232837-scaled.jpg

इसलिंगटन के बारे में -administrative reform का चीफ था इसलिंगटन इसी लिए इसको इसलिंगटन आयोग कहा गया इस योग की नियुक्ति 1912 ई० में की गई थी इसका उदेश्य उच्च पदों पर ,विशेष रूप से इंडियन सिविल सर्विसो में भारतीयों की भर्ती की समस्या पर विचार करना था इसलिंगटन आयोग के प्रावधान – इसने एक …

Read moreइसलिंगटन आयोग

ट्रस्टीशिप का सिद्धांत

ट्रस्टीशिप का सिद्धांत 1860 के बाद british शासन ने भारत में अपने आप को स्वराज का शिक्षक कहने के स्थान पर अपने को ट्रस्टी कहना शुरू कर दिया इसका तात्पर्य यह था की अंग्रेज भारत के साधनों का प्रवंधन इस तरीके से करेंगे की भारतीयों की अधिकतम भलाई हो सके . ट्रस्टीशिप का दावा इस …

Read moreट्रस्टीशिप का सिद्धांत

अंग्रेजो का नस्लीय भेदभाव क्या था angrejo ka nasliy bhedbhav

http://uppscexams.com/wp-content/uploads/2021/05/PicsArt_05-10-07.05.41-scaled.jpg

अंग्रेजो का नस्लीय भेदभाव क्या था अंग्रेजो का नस्लीय भेदभाव क्या  :- प्रशासन का ढाचा नस्लवादी था ,भारतीयों की भागेदारी बहुत कम थी ,1912 के बाद भागेदारी बढ़ी थी  british का नस्लीय भेदभाव  :- british शासन का नस्लवादी ढाचा था इसका मतलव क्या है -शासन में गोरे लोगो की प्रधानता को ही नस्लवाद कहते है …

Read moreअंग्रेजो का नस्लीय भेदभाव क्या था angrejo ka nasliy bhedbhav

चार्टर एक्ट 1833

http://uppscexams.com/wp-content/uploads/2021/05/wp-1620531560937.jpg

चार्टर एक्ट 1833 चार्टर एक्ट 1833 इंग्लेंड में विकसित हो रहे उधोग पूंजीवाद और वित्तीय पूंजीवाद के प्रष्टभूमि में आया था इसी प्रष्टभूमि में इंग्लेंड में 1832 में संसदीय सुधार भी हुआ था जिसके फलस्वारूप वहा के पूंजीवादी समाज के लोग वहा की राजनीति में निर्णायक हो गये थे इसके ठीक अगले साल 1833 का …

Read moreचार्टर एक्ट 1833

1813 ka charter act in hindi चार्टर एक्ट 1813

charter act 1813 1813 ka charter act क्यों लाया गया :- 1813 ka चार्टर act ईस्ट इडिया कम्पनीय के शासन के 20 वर्ष पुरे हो गये थे british इंडस्ट्री से जुड़े लोग अब ईस्ट इंडिया कम्पनीय के एकाधिकार का मुखर विरोध कर रहे थे british इंडस्ट्री से जुड़े लोग इस लिए मुखर विरोध कर रहे …

Read more1813 ka charter act in hindi चार्टर एक्ट 1813

चार्टर एक्ट 1793 चार्टर एक्ट क्या है

http://uppscexams.com/wp-content/uploads/2021/05/PicsArt_05-06-07.40.49-scaled.jpg

चार्टर एक्ट 1793 चार्टर एक्ट 1793 क्यों लाया गया :- चार्टर एक्ट 1793 इस लिए लाया गया की british समाज /राजनीती में बहुत लोग यह कह रहे थे की ईस्ट इंडिया कम्पनीय की सत्ता समाप्त हो | गवर्नर जनरल को ज्यादा अधिकार सम्पन्न बनाना था चार्टर एक्ट का अर्थ :- की कर्निवालिस जब आया था …

Read moreचार्टर एक्ट 1793 चार्टर एक्ट क्या है